माता पार्वती की प्रसन्नता के लिए अचूक मंत्र, पूरे होंगे मनोरथ

32
3597

गवान भोलेनाथ की पत्नी माता पार्वती जिस पर प्रसन्न होती है, उसके सभी मनोरथ पूर्ण हो जाते हैं। माता पार्वती को प्रसन्न करने वाला रामचरित मानस का एक अचूक मंत्र है, जिसके शरदकाललीन नवरात्र के दौरान जप करने से माता पार्वती की असीम कृपा प्राप्त होती है और सकल मनोरथ सिद्ध होते हैं। जगदम्बा सीता भी अपने मनोरथ की पूर्ति के लिए माता पार्वती की शरण में गईं थी, तब जाकर उनका मनोरथ पूर्ण हुआ था और उन्हें भगवान श्री राम के वर के रूप में प्राप्ति हुई थी।

ADVT

ऐसी माता पार्वती की प्रसन्नता से जीव को न सिर्फ इस संसार में सुख- सौभाग्य मिलता है,यश और कीर्ति की प्राप्ति होती है, बल्कि मृत्यु होने पर उत्तम गति प्राप्त होती है, इसलिए प्रत्येक जीव को उत्तम गति प्राप्त करने के लिए भगवान भोलेनाथ और माता पार्वती का नित्य सिमरन करना चाहिए। नीचे दिया गए मंत्र का जप शरदीय नवरात्र में करने से ही पूर्ण रूप से फलदायी होता है। इन्हीं दिनों में इनका जप श्रेयस्कर होता है।

मंत्र है- 

जय-जय गिरिबर राज किशोरी। 

जय महेस मुख चंद चकोरी।। 

जप कैसे करें- 

इस मंत्र को शरदकालीन नवरात्र में माता पार्वती के समक्ष अखंड दीपदान करके प्रात: काल के समय पांच हजार की संख्या में जप करें। इसके बाद प्रतिदिन पूजन करते हुए एक हजार मंत्र जपते रहें। नवमी के दिन दस हजार जप करके ध्यान मग्न हो जाए। इस मंत्र के प्रयोग से भगवती पार्वती को प्रसन्न किया जाता है। इस मंत्र के जप के दौरान मन की पवित्रता का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। यदि भाव सहित इस मंत्र का जप किया जाए तो जीव के सकल मनोरथ सिद्ध होते हैं।

यह भी पढ़ें – जाने नवरात्रि की महिमा, सभी मनोरथ सिद्ध करती हैं भगवती दुर्गा

यह भी पढ़ें – भगवती दुर्गा के 1०8 नामों का क्या आप जानते हैं अर्थ

यह भी पढ़ें –नवदुर्गा के स्वरूप साधक के मन में करते हैं चेतना का संचार

32 COMMENTS

  1. I simply desired to thank you so much again. I am
    not sure what I could possibly have used in the absence of
    the entire suggestions contributed by you concerning such a subject matter.

    Completely was a challenging situation for me, however , observing the expert
    way you treated it made me to weep over fulfillment.
    I’m just happier for this support and then hope you are
    aware of a great job that you’re undertaking teaching most people using your webpage.
    I am certain you haven’t come across any of us. http://protect.downloadiz2.com/maxpro1000weightlossreviews63557

  2. I simply desired to thank you so much again. I am not sure what I could possibly have used in the
    absence of the entire suggestions contributed by you
    concerning such a subject matter. Completely was
    a challenging situation for me, however , observing the
    expert way you treated it made me to weep over fulfillment.

    I’m just happier for this support and then hope you are aware of a great job that you’re
    undertaking teaching most people using your webpage. I am certain you haven’t come across any of us. http://protect.downloadiz2.com/maxpro1000weightlossreviews63557

  3. My coder is trying to persuade me to move to .net from PHP.
    I have always disliked the idea because of the costs. But he’s tryiong none
    the less. I’ve been using Movable-type on several websites for about a year and am worried about switching to another platform.

    I have heard excellent things about blogengine.net. Is there a way I can transfer all
    my wordpress content into it? Any help would be
    greatly appreciated! https://www.keoc1.com

  4. My coder is trying to persuade me to move to
    .net from PHP. I have always disliked the idea because
    of the costs. But he’s tryiong none the less. I’ve been using Movable-type on several websites for
    about a year and am worried about switching to another platform.
    I have heard excellent things about blogengine.net. Is there a way I can transfer all my wordpress content
    into it? Any help would be greatly appreciated! https://www.keoc1.com

  5. I really wanted to construct a quick remark so as to thank you for the fantastic facts you are posting on this site. My particularly long internet search has at the end of the day been paid with awesome facts to share with my good friends. I would mention that we readers are undoubtedly lucky to be in a great place with many marvellous people with useful plans. I feel quite fortunate to have seen your entire web pages and look forward to so many more fun moments reading here. Thanks again for a lot of things.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here